Sports

अपनी नाकामी और सफलता को लेकर गेल ने कही यह बात

 

नई दिल्ली| इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें सीजन में कई बड़े नाम नाकाम हुए। उनमें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के लिए खेलने वाले वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल भी शामिल हैं। गेल हालांकि, अपनी नाकामी को बहुत गंभीरता से नहीं लेते, क्योंकि उनका कहना है कि सफलता और नाकामी खेल का हिस्सा है।

अंतर्राष्ट्रीय फैशन एवं लाइफ स्टाइल ब्रांड ‘एटिट्यूट डॉट कॉम’ के ग्लोबल ब्रैंड एम्बेसेडर बनाए जाने के बाद दुनिया के सबसे सफल टी-20 बल्लेबाजों में से एक गेल ने अपने ‘एटिट्यूट’ को लेकर खुल कर बातें की। उन्होंने कहा कि बेशक वह तथा उनकी टीम इस साल आईपीएल में जलवा नहीं दिखा सके, लेकिन वह आश्वस्त हैं कि उनकी टीम फिर से एकजुट होगी और बेहतरीन प्रदर्शन करेगी।

गेल ने कहा, “नाकामी और सफलता खेल का हिस्सा है। मैं इनसे नहीं घबराता। खेल और जिंदगी को लेकर मेरा ‘एटिट्यूट’ कुछ अलग है। मुझे विश्वास है कि हम फिर से एकजुट होंगे और इस सीजन से सबक लेते हुए नए सिरे से खड़े होंगे।”

उल्लेखनीय है कि वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज गेल के लिए आईपीएल का साल 2011 और 2012 का संस्करण सबसे शानदार रहा था। उन्होंने 2011 में 12 मैचों में दो शतकों के साथ कुल 608 रन बनाए थे, वहीं 2012 में 15 मैचों में 733 रन बनाए थे। इसमें एक शतक शामिल था। हालांकि, इस सीजन में वह अपने प्रशंसकों की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए। उन्होंने बेंगलोर के लिए इस सीजन में खेले गए नौ मैचों में 22.22 की औसत से केवल 200 रन ही बनाए।

गेल ने इस बात को लेकर निराशा जताई थी। वेस्टइंडीज इस साल चैम्पियंस ट्रॉफी में नहीं खेल रहा, लेकिन वह भारत को संभावित विजेता के तौर पर देख रहे हैं तथा इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम का समर्थन भी कर रहे हैं।

गेल ने कहा, “चार जून को जब भारत और पाकिस्तान की टीमें चैम्पियंस ट्रॉफी में भिड़ेंगी, तो मैं भारत के साथ खड़ा रहूंगा। इस टीम में अपना खिताब बचाने की काबिलियत है। इसके कई खिलाड़ियों ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया है और मुझे उम्मीद है कि वे इस प्रदर्शन को इंग्लैंड में भी जारी रखेंगे।”

–आईएएनएस

Tags
Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker