Entertainment

अब ‘शेफ’ लेकर हाजिर हो रहे हैं सैफ अली खान…

 

एस.पी. चोपड़ा, नई दिल्ली। छोटे नवाब यानी, सैफ अली खान के फैंस को ‘रंगून’ के बाद उनकी दूसरी फिल्म का बेसब्री से इंतजार था। आखिरकार ऐसे में सैफ उनके सामने अपनी नई फिल्म ‘शेफ’ लेकर हाजिर हो रहे हैं। यह फिल्म 6 अक्टूबर को रिलीज होगी। हॉलीवुड के मशहूर निर्देशक जॉन फेवरियू की हिट फिल्म ‘शेफ’ के इस हिंदी रीमेक में सैफ अली खान के साथ मलयालम एक्ट्रेस पद्मप्रिया जानकोरमन लीड रोल में नजर आएंगी। राजा कृष्णा मेनन के निर्देशन में बनी इस फिल्म के प्रमोशन के सिलसिले में पिछले दिनों सैफ अली खान एवं डायरेक्टर राजा कृष्णा मेनन दिल्ली में थे, जहां मीडियो के साथ उन्होंने दिल खोलकर बातें कीं।

मीडिया से बातचीत में सैफ अली खान ने बताया कि इस फिल्म में एक पिता और बेटे के रिलेशनशिप को बेहतरीन तरीके से दिखाया गया है। फिल्म की कहानी एक बिजी पिता की है, जो अपनी बिजी नौकरी की वजह से अपने इकलौते बेटे को समय नहीं दे पाता है। अपने बेटे आदी के लिए नौकरी से समय निकालकर सैफ अली खान परिवार के पास वापस आते हैं। जहां उनके साथ थोड़ा सा समय बिताकर उन्हें वापस नौकरी पर जाना होता है। इसके बाद सैफ नौकरी को छथोड़कर अपने परिवार के साथ रहकर काम करने का निर्णय लेते हैं।

इसके लिए वो घर के पास अपना एक रेस्टोरेंट खोलने का निर्णय लेते हैं। ट्रेलर में एक लाइन है सिर्फ पैसे देकर अच्छा पिता नहीं बना जात। यही लाइन उनकी जिंदगी बदल देते हैं और वह परिवार पर ध्यान देने का मन बना लेते हैं। साथ ही सैफ अली खान ने यह भी जोड़ा कि डायरेक्टर राजा कृष्णा मेनन मुझे रसोई में आरामदायक रूप में देखना चाहते थे, इसलिए हमने कोशिश की और खाना पकाने के लिए बहुत अभ्यास किया।

सैफ अली खान की यह फिल्म पता-पुत्र संबंधों पर आधारित है, जबकि खुद सैफ अभी तैमूर जैसे बेटे के पिता बने हैं। इस फिल्म में भी उन्हें एक बच्चे के साथ काम करना पड़ा है, तो कैसा अनुभव हुआ? पूछने पर उन्होंने कहा कि हमने इस फिल्म में बहुत ही प्यारे बच्चे के साथ काम किया है। करीब उढ़ सौ बच्चों के बीच से उसका सेलेक्शन किया गया था। वह बहुत स्वाभाविक और प्यारा बच्चा है, जिसने मुझे कुछ प्राकृतिक अभिनय भी सिखाया। उसके साथ काम करके हमें बहुत मज़ा आया।

अपने अब तक के अनुभवों एवं फिल्म बनाने की जिम्मेदारी के बारे में पूछने पर राजा कृष्णा मेनन ने बताया कि फिल्म कोई भी क्यों न हो, एक डायरेक्टर के यिर पर हमेशा जिम्मेदारी का बोझ रहता है। इसके साथ ही आमलोगों के साथ कलाकारों की भी उससे कुछ अपेक्षाएं जरूर होती हैं। चूंकि यह फिल्म पिता-पुत्र के संबंधों पर आधारित है, इसलिए यह ऐसे कई जटिल सवलों का जवाब भी देगी, जिससे आमलोग सामान्य जीवन में जूझते हैं। दरअसल, यह एक पिता-पुत्र की मार्मिक कहानी है।

एक पति-पत्नी के डायवोर्स की कहानी है। यह फिल्म आज़ादी और दूसरे चांस की कहानी है। कुल मिलाकर यह काफी गहरी फिल्म है। फिल्म में सैफ अली खान के अपोजिट नजर आने वाली पद्मप्रिया जानकोरमन ने अपने अब तक के बॉलीवुडिया सफर के बारे में कहा कि यह उनके बॉलीवुड करियर की दूसरी फिल्म है, लेकिन जब आप बेहतरीन टीम और अच्छी कहानी के साथ काम करते हैं, तो यह सफर सार्थक लगने लगता है। ‘शेफ’ एक इंटेंस फिल्म है, जिसमें काम करने का हमेशा गर्व रहेगा।

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker