आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में ईद-उल-अजहा का जश्न

आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में ईद-उल-अजहा का जश्न

New Delhi: Children celebrate on the occasion of Eid-ul-Fitr at Jama Masjid in Delhi on June 16, 2018. (Photo: IANS)

हैदराबाद: कुबार्नी का त्योहार ईद-उल-अजहा बुधवार को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में पूरे उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। दोनों राज्यों में मुसलमानों ने ईद की नमाज अदा की और पैगंबर इब्राहीम की कुर्बानी की याद में बकरों व अन्य मवेशियों की कुर्बानी दी।

लाखों मुसलमानों ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के विभिन्न जिलों में नमाज अदा की।

दिन की शुरुआत मुसलमानों ने नए परिधानों को पहन और ईद की नमाज अदा कर की। कई जगहों पर नमाज-ए-फजर (सूरज निकलने से पहले की नमाज) के कुछ मिनट बाद ही ईद की नमाजें शुरू हो गईं।

मस्जिदों में इमामों ने बाढ़ प्रभावित केरल के लिए दुआएं मांगीं। जमात-ए-इस्लामी और कई अन्य संगठनों ने भी बाढ़ प्रभावितों के लिए दान एकत्र किया।

हैदराबाद की ऐतिहासिक मीर आलम ईदगाह में में एक लाख से अधिक लोगों ने नमाज अदा की। मौलाना मोहम्मद रिजवान कुरैशी ने नमाजियों को नमाज अदा करवाई।

ऐतिहासिक मक्का मस्जिद, मदन्नापेट ईदगाह, हॉकी ग्राउंड मसाब टैंक और सैन्य मैदान मेहदीपत्तनम में बड़ी संख्या में नमाजियों को देखा गया। शहर भर की सैकड़ों मस्जिदों में भी ईद की विशेष नमाज पढ़ी गई।

पुलिस ने किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए विशेष रूप से संवेदनशील पुराने शहर हैदराबाद में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की। मवेशियों के अवैध परिवहन को रोकने के लिए विभिन्न स्थानों पर विशेष जांच चौकी स्थापित की गई है।

मंगलवार को पुलिस ने भारतीय जतना पार्टी के विधायक राजा सिंह को हिरासत में लिया था क्योंकि उन्होंने पुलिस आयुक्त के कार्यालय में कथित तौर पर गायों की खरीद-फरोख्त की बात कहकर भूख हड़ताल करने की धमकी दी थी।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और आंध्र प्रदेश के उनके समकक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू व दोनों राज्यों के राज्यपाल ई.एस.एल नरसिम्हान ने लोगों की ईद की मुबारकबाद दी।

नरसिम्हा राव ने ईद की मुबारकबाद देते हुए कहा, “बकरीद कुर्बानी, ईश्वर के लिए पूरी निष्ठा और गरीबों के लिए दया रखने का प्रतीक है। यह पर्व वस्तुओं को साझा करने की बात करता है। दान और सद्भावना की इस भावना सभी को अपने अंदर भरनी चाहिए।”

वहीं, चंद्रशेखर ने अपने संदेश में कहा, “बकरीद कुर्बानी का त्योहार है और हर किसी को पैगंबर की महान शिक्षाओं का अनुसरण करना चाहिए और अपने आसपास के लोगों के लिए कुर्बानी, दया और सहिष्णुता की भावना रखनी चाहिए।”

–आईएएनएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *