National

आपातकाल थोपने वाले और विरोध करने वाले दोनों साथ खड़े हैं : मोदी

संतकबीरनगर (मगहर): उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर में कबीर के निर्वाण स्थल मगहर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अप्रत्यक्ष तौर पर कांग्रेस और उनके सहयोगियों पर जमकर निशाना साधा।

मोदी ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि देश पर आपातकाल थोपने वाले और उस समय उसका विरोध करने वाले एकसाथ खड़े हैं। यह सब सत्ता पाने के लिए हो रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संत कबीर दास की महापरिनिर्वाण स्थल मगहर से एक साथ विरोधियों पर कई वार किए। उन्होंने कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) पर कई आरोप लगाए।

प्रधानमंत्री ने कहा, “समाजवाद और बहुजन की बातें करने वालों का हम लालच देख रहे हैं। दो दिन पहले ही देश में आपातकाल के 43 साल हुए हैं। सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने और उसका विरोध करने वाले आज कंधे से कंधा मिलाकर कुर्सी लेने की फिराकमें घूम रहे हैं।”

मोदी ने आरोप लगाया कि ये लोग देश और समाज नहीं बल्कि अपने परिवार को लेकर चिंतित हैं। गरीब, वंचित, शोषित को धोखा देकर अपने लिए करोड़ों का बंगला बनाने वाले लोग हैं।

मोदी ने कहा कि कई महापुरुषों के नाम पर राजनीतिक धारा बनाई जा रही है जिससे देश को तोड़ने का काम किया जा रहा है। कुछ राजनीतिक दल अशांति का माहौल बनाने में लगे हुए हैं। क्योंकि ऐसे लोग जमीन से कट चुके हैं।

प्रधानमंत्री ने यहां कबीर की समाधि स्थल पर चादर चढ़ाई और अंतर्राष्ट्रीय शोध संस्थान की आधारशिला रखी। इस मौके पर योगी सरकार की प्रशंसा करते हुए मोदी ने कहा, “पहले यूपी की सरकार को अपने बंगलों से प्यार था। जब से योगीजी की सरकार आई उसके बाद यूपी में गरीबों के लिए रिकॉर्ड घरों का निर्माण किया जा रहा है।”

मोदी ने कहा कबीर ने कहा था आदर्श शासक वही है जो जनता की पीड़ा दूर कर सके। अफसोस आज कई परिवार खुद को जनता का भाग्य विधाता बनाकर संत कबीर की बातों को भुलाने में लगे हैं।

तीन तलाक के मामले को लेकर विपक्षियों पर निशाना साधते हुए कहा कि मुस्लिमों के बहाने तीन तलाक को हटाने की लगातार मांग कर रही हैं। लेकिन यह राजनीतिक लोग, सत्ता का खेल खेलने वाले इममें रोड़े अटका रहे है। अपनी लाभ के लिए सामाजिक बुराइयों को खत्म नहीं करना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कबीर ने कहा था कि आदर्श शासक वही है जो जनता की पीड़ा दूर कर सके। अफसोस आज कई परिवार खुद को जनता का भाग्य-विधाता बनाकर संत कबीर की बातों को भुलाने में लगे हैं।

उन्होंने कहा कि गरीबी हटाने के नाम पर वो गरीबों को वोट बैंक की सियासत के तौर पर प्रयोग करते रहे। हमारी सरकार गरीब, दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित महिलाओं को, नौजवानों को सशक्त करने का काम कर रही है। जनधन योजना के तहत पांच करोड़ लोगों के बैंक खाते खुले।

मोदी ने कहा,”महिलाओं को उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिया गया। एक करोड़ 70 लाख लोगों को एक रुपए में आयुष्मान भारत के तहत स्वास्थ्य सेवा दी गई। गरीब के विकास को सरकार ने अपनी प्रथामिकता बनाया है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम मगहर को तेज विकसित करने का काम हम करने जा रहे हैं। संत कबीर के वचनों को ढालकर न्यू इंडिया बनाया जाएगा।

इससे पहले उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत में हर क्षेत्र के विकास का विश्वास जगा है। आज हर गरीब को सिर ढकने के लिए आवास देने का काम किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता को बढ़ावा देते हुए एक साल के अंदर प्रदेश में 72 लाख से भी ज्यादा शौचालय का निर्माण किया गया है।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *