National

उप्र : जब 2 घंटे चला तेंदुए व ग्रामीणों में लुकाछिपी का खेल

बहराइच: उत्तर प्रदेश में बहराइच रेंज के तीन गांवों में कछार से आए तेंदुए ने रविवार सुबह जमकर उत्पात मचाया। हमले में छह लोग घायल हुए। इससे गुस्साए तीनों गांव के ग्रामीणों ने तेंदुए को खदेड़ा तो वह खालेपुरवा के निकट झाड़ियों में छिप गया। ग्रामीणों ने तेंदुए को लाठियों से पीटकर बेहोश किया, फिर झाड़ी में आग लगा दी। 

सूचना पाकर वन विभाग और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। तेंदुए के अधजले शव को कब्जे में लेकर जिला मुख्यालय पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इस मामले में वन विभाग एफआईआर दर्ज करवाने की तैयारी कर रहा है।

बहराइच वन प्रभाग के बहराइच रेंज अंतर्गत नकाही गांव स्थित है। रामगांव थाना क्षेत्र का यह इलाका सरयू का कछार भी है। रविवार सुबह सरयू के कछार से निकलकर आए तेंदुए ने धोबिया गांव में तीन ग्रामीणों पर हमला कर उन्हें घायल किया। यहां से ग्रामीणों ने खदेड़ा तो तेंदुआ पास में ही नकाही गांव की ओर भाग गया। यहां रास्ते में तीन युवकों पर हमला कर उन्हें भी घायल कर दिया।

गुस्साए ग्रामीणों ने आसपास गांव के लोगों को सूचना दी। काफी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए। इस पर खालेपुरवा गांव के निकट ग्रामीणों की भीड़ ने तेंदुए को घेर लिया। वह जान बचाने के लिए पास की झाड़ी में छिपा तो भीड़ ने लाठियों से पीट दिया। मौके पर ही तेंदुआ बेहोश हो गया। गुस्सायी भीड़ ने झाड़ी में आग लगा दी। बेहोश तेंदुआ जिंदा जल गया। सूचना वन विभाग को मिली तो सभी सकते में आ गए।

प्रभागीय वनाधिकारी आरपी सिंह, क्षेत्रीय वन दरोगा दीपक सिंह व विभाग की टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। थानाध्यक्ष ब्रह्मानंद सिंह भी फोर्स के साथ खालेपुरवा गांव पहुंचे।

प्रभागीय वनाधिकारी ने बताया कि झाड़ियों में आग लगने से तेंदुए की मौत हुई है। लेकिन आग किसने लगाई, जांच की जा रही है। इसके बाद केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। प्रभागीय वनाधिकारी आरपी सिंह ने बताया कि तेंदुआ मादा थी, उसकी उम्र महज दो वर्ष है।

–आईएएनएस

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker