केंद्र की योजना केजरीवाल को गिरफ्तार कराने की : सिसोदिया

केंद्र की योजना केजरीवाल को गिरफ्तार कराने की : सिसोदिया

Delhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia. (File Photo: IANS)

 

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को कहा कि केंद्र सरकार केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) का इस्तेमाल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को झूठे मुकदमे में ‘फंसाने’ के लिए कर रही है तथा उन्हें ‘गिरफ्तार’ करने की योजना बना रही है। सिसोदिया ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि दिसंबर 2015 में केजरीवाल के कार्यालय पर छापेमारी तथा दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के कार्यालय पर पिछले महीने छापेमारी के बाद सीबीआई उनके (सिसोदिया) कार्यालय पर भी छापेमारी की तैयारी कर रही है।

दिल्ली के मुख्य सचिव को केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव द्वारा लिखे पत्र का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा, “पूछताछ के दौरान सीबीआई ने राजेंद्र कुमार पर बार-बार इस बात का दबाव बनाया कि अगर वह केजरीवाल को फंसा दें, तो उन्हें छोड़ दिया जाएगा।”

उन्होंने कहा, “सीबीआई का इरादा कुमार पर दबाव बनाना था, ताकि वह केजरीवाल का नाम लें, क्योंकि वे मुख्यमंत्री के कार्यालय पर छापा मारने तथा उन्हें (केजरीवाल) गिरफ्तार करने की योजना बना रहे हैं।”

सिसोदिया ने अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा, “ये वही लोग हैं, जिन्होंने शीर्ष नौकरशाह बी.के.बंसल तथा उनके परिवार को आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया था।”

उन्होंने कहा कि सीबीआई का ध्यान भ्रष्टाचारियों व आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करने पर नहीं है, बल्कि अपनी पूरी ऊर्जा केजरीवाल के झूठे मुकदमे में फंसाने में लगा रही है।

सिसोदिया ने चेतावनी देते हुए कहा, “मोदी जी, जो चाहते हैं, वह कीजिए। सीबीआई का इस्तेमाल अधिकारियों, विधायकों, मंत्रियों तथा यहां तक कि मुझे और केजरीवाल को गिरफ्तार करने के लिए कीजिए। लेकिन आपकी उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। पंजाब, उत्तर प्रदेश तथा अन्य राज्यों के लोग आपको सबक सिखाएंगे।”

सीबीआई पर परेशान करने का आरोप लगाते हुए राजेंद्र कुमार ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की मांग की और जांच एजेंसी पर मुख्यमंत्री को झूठे मामले में फंसाने के लिए उनपर दबाव बनाने का आरोप लगाया।

वहीं, सीबीआई ने आरोपों से इनकार करते हुए उसे ‘पूरी तरह निराधार’ बताया।

(आईएएनएस)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *