Politics

दिल्ली नगर निगम भ्रष्टाचार का अड्डा : आप

 

नई दिल्ली| आम आदमी पार्टी (आप) के नेता दिलीप पांडेय ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह को सोमवार को लिखी चिट्ठी में कहा है कि भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुकी है।

दिलीप पांडेय ने अपनी चिट्ठी में लिखा है, “यह पत्र मैं बहुत ही खेद के साथ लिख रहा हूं कि आपकी पार्टी एमसीडी में व्याप्त भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए झूठ बोल रही है और जनता को गुमराह कर रही है..दिल्ली नगर निगम भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुकी है।”

दिलीप ने भाजपा पर झूठे चुनावी वादे करने का भी आरोप लगाया और कहा कि भाजपा पिछले चुनाव के दौरान किए गए वादे तो पूरा कर नहीं पाई।

आप नेता ने लिखा, “मैं आपको और आपकी पार्टी को चुनौती देता हूं कि भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम द्वारा किया गया एक ऐसा काम गिना दें, जिसकी लोगों ने सराहना की हो और जिस पर आपको गर्व हो। एमसीडी ने कुछ नहीं किया। दिल्ली की तीनों निकाय सफाई और स्वच्छता के लिए आवंटित राशि का 40 फीसदी भी उपयोग नहीं कर पाईं।”

एमसीडी को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के अमित शाह के वादे पर तीखा प्रहार करते हुए आप नेता ने कहा कि एमसीडी की बागडोर पिछले 10 वर्षो से भाजपा के हाथ में है, लेकिन कम होने की बजाय भ्रष्टाचार में बढ़ोतरी ही हुई है।

दिलीप पांडेय ने कहा, “आप भ्रष्टाचार पर काबू पाने में असफल रहे हैं, जैसा कि एक अध्ययन में भी खुलासा हुआ है कि दिल्ली के 30 फीसदी निवासियों को नगर निगम में अपना काम करवाने के लिए रिश्वत देनी पड़ी। इतना ही नहीं, आपकी एमसीडी ने हमारे विधायकों को विकास निधि के जरिए विकास कार्य करने में भी बाधा पहुंचाई।”

दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए भाजपा द्वारा अपने घोषणापत्र में किए गए वादे को लेकर भी हमला बोला। भाजपा ने अपने घोषणापत्र में कहा है कि अगर वह जीतते हैं तो दिल्ली नगर निगम अधिनियम में संशोधन कर एमसीडी को सीधे केंद्र सरकार से धन आवंटन किए जाने की व्यवस्था कर देंगे।

इस पर पांडेय ने कहा, “अगर आप राज्य सरकार की अवहेलना कर एमसीडी के लिए केंद्र सरकार से सीधे धन आवंटन की व्यवस्था कर सकते हैं तो अब तक इसे क्यों नहीं किया? आप एमसीडी के सफाईकर्मियों का वेतन तक देने में अक्षम साबित हुए और दिल्ली की जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया।”

–आईएएनएस

Tags
Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker