Sports

धर्मशाला टेस्ट : भारत ने श्रृंखला पर कब्जा जमाया

 

धर्मशाला| भारत ने हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) स्टेडियम में खेले गए चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के चौथे दिन मंगलवार को आस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने चार टेस्ट मैचों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर 2-1 से अपना कब्जा जमा लिया है। दोनों टीमों के बीच एक मैच ड्रा रहा था।

 

भारत को चौथी पारी में जीत के लिए 106 रनों की जरूरत थी, जिसे उसने चौथे दिन पहले सत्र में ही दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। लोकेश राहुल 51 रन और नियामित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम की कमान संभाल रहे अजिंक्य रहाणे 38 रन बनाकर नाबाद लौटे। राहुल ने 76 गेंदों का सामना किया और नौ चौके लगाए। रहाणे ने 27 गेंदों में चार चौके और दो छक्के लगाए।

 

इसी के साथ रहाणे ने कप्तान के तौर पर पहले मैच में जीत हासिल करने का रिकार्ड भी अपने नाम किया।

 

भारत ने आस्ट्रेलिया की पहली पारी के 300 रनों के स्कोर का जवाब देते हुए अपनी पहली पारी में 332 रन बनाकर 32 रनों की बढ़त ली थी। इसके बाद तीसरे दिन आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 137 रनों पर ही सिमट गई। भारत को जीत के लिए 106 रनों की दरकार थी। मेजबान टीम ने तीसरे दिन बिना कोई विकेट खोए 19 रन बनाए थे।

 

अपने तीसरे दिन के स्कोर से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने दिन का पहला विकेट मुरली विजय (8) के रूप में गंवाया। वह पैट कमिंस की गेंद पर विकेट के पीछे मैथ्यू वेड के हाथों लपके गए। इसके बाद मैदान पर आए पहली पारी में अर्धशतक लगाने वाले चेतेश्वर पुजारा इस पारी में खाता नहीं खोल पाए। राहुल के साथ रन लेने में गलतफहमी का शिकार हुए और ग्लैन मैक्सवेल ने विकटों पर सीधा निशाना बनाते हुए पुजारा को पवेलियन लौटाया। भारत ने 46 रनों पर अपने दो विकेट गंवा दिए।

 

इसके बाद उतरे कप्तान रहाणे ने तेजी से रन बनाए और दूसरे छोर पर खड़े राहुल का बखूबी साथ दिया। रहाणे ने कमिंस की गेंद पर लगातार दो चौके जड़े। उन्होंने कमिंस के अगले ओवर में भी चौका मारा। उन्होंने कमिंस के अगले ओवर में दो छक्के मारे और फिर स्टीव ओकीफ की गेंद पर भी चौका मारा। राहुल ने अर्धशतक पूरा करते हुए भारत को जीत दिलाई। राहुल का यह इस श्रृंखला में पांचवां अर्धशतक रहा।

 

आस्ट्रेलिया के लिए कमिंस ने इस पारी में एकमात्र विकेट लिया।

 

भारतीय टीम अपनी पहली पारी में एक समय मुश्किल में लग रही थी। उस पर आस्ट्रेलिया के 300 रनों की बराबरी का संकट नजर आ रहा था, लेकिन मैन ऑफ द मैच रवींद्र जडेजा (63) और रिद्धिमान साहा (31) के बीच हुई 96 रनों की साझेदारी की बदौलत भारत ने मैच पर अपनी पकड़ मजबूत की। भारत के पास मामूली ही सही, लेकिन अहम बढ़त थी, जो उसके लिए निर्णायक साबित हुई।

 

बढ़त लेने के बाद आत्मविश्वास से भरी भारत ने अपने गेंदबाजों के दम पर आस्ट्रेलिया को बैकफुट पर रखा। तीसरे दिन मेहमान टीम पूरे दो सत्र भी बल्लेबाजी नहीं कर सकी। भोजनकाल के बाद बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलिया ने चायकाल तक अपने पांच विकेट 96 रनों पर गंवा दिए। तीसरे दिन के अंतिम सत्र में भारत ने उसके बाकी पांच विकेट महज 45 रनों के अंदर चटका कर उसे 137 पर समेट दिया।

–आईएएनएस

Tags
Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker