Khaas Khabar

न्यूजीलैंड : मस्जिद में गोलीबारी, 49 लोगों की मौत

क्राइस्टचर्च :    न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में बंदूकधारियों ने शुक्रवार को अंधाधुंध गोलीबारी कर कम से कम 49 लोगों की हत्या कर दी। हमलावर श्वेत बताए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने इसे आतंकवादी हमला करार दिया है। ‘द न्यूजीलैंड हेराल्ड’ की रपट के अनुसार, क्राइस्टचर्च के पुलिस आयुक्त माइक बुश ने गोलीबारी को ‘घृणास्पद’ हमला बताते हुए कहा कि हैगले पार्क के पास स्थित अल नूर मस्जिद में सात और लिनवुड एवेन्यू मस्जिद में 41 लोगों की मौत हुई है। एक शख्स ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

बुश ने कहा कि लगभग 20 साल उम्र के एक शख्स पर हत्या का आरोप तय किया गया है और पुलिस ने लिनवुड एवेन्यू और अल नूर मस्जिद स्थित गोलीबारी स्थल से ढेर सारे हथियार बरामद किए हैं।

क्राइस्टचर्च अस्पताल ने इससे पहले बताया था कि गोलीबारी में 48 लोग घायल हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने इस हत्याकांड को ‘न्यूजीलैंड के इतिहास का सबसे काला दिन’ और ‘अभूतपूर्व’ स्थिति बताया है।

हमलावरों में एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक था। ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने संदिग्ध हमलावर को ‘चरमपंथी दक्षिणपंथी हिंसक आतंकवादी’ बताया है।

आयुक्त बुश ने मीडिया को बताया कि इस ऑस्ट्रेलियाई ने कथित तौर पर अल नूर मस्जिद में गोलीबारी का 17 मिनट का वीडियो बनाया और एक घोषणापत्र में अपने इरादे को लिखकर उसे वायरल किया और इसे ‘एक आतंकवादी हमला’ बताया।

‘बीबीसी’ ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से कहा कि अल नूर मस्जिद के बाहर लोग अपनी जान बचाने के लिए भाग रहे थे और कुछ जमीन पर खून से लथपथ पड़े थे।

बंदूकधारी ने मस्जिद में पुरुषों के प्रार्थना कक्ष को निशाना बनाया और फिर वह महिलाओं के कमरे में चला गया।

प्रधानमंत्री अर्डर्न ने कहा, “यह स्पष्ट है कि इसे केवल आतंकवादी हमले के रूप में वर्णित किया जा सकता है। हमें जो पता है, उससे प्रतीत होता है कि यह सुनियोजित था। संदिग्धों के वाहनों से दो विस्फोटक उपकरण मिले हैं और उन्हें निष्क्रिय कर दिया गया है।”

अर्डर्न ने कहा, “ये वे लोग हैं, जिन्हें मैं चरमपंथी विचारों के रूप में वर्णित करती हूं, जिनकी न्यूजीलैंड में कोई जगह नहीं है और वास्तव में दुनिया में कोई जगह नहीं है।”

पुलिस ने कहा कि हमले में शामिल वाहनों में कई इंप्रोवाइज्ड विस्फोटक उपकरण लगे हुए थे।

बुश ने कहा, “इससे पता चलता है कि स्थिति गंभीर है।”

वहीं, न्यूजीलैंड का दौरा कर रही बांग्लादेश क्रिकेट टीम इस हमले में घटनास्थल से सुरक्षित निकलने में कामयाब रही, जो हैग्ले पार्क के पास स्थित एक मस्जिद में जुमे के नमाज के लिए गई थी।

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के प्रवक्ता जलाल यूनुस ने कहा कि टीम के अधिकांश लोग बस से मस्जिद गए थे और जब यह हादसा हुआ तब वे अंदर जाने वाले थे।

इसके बाद अधिकारियों ने तुरंत न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच जारी तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मैच को रद्द कर दिया, जिसे क्राइस्टचर्च में खेला जाना था।

सरकार ने लोगों से अगले आदेश तक मस्जिदों में न जाने की सलाह दी है। यहां के सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

एक व्यक्ति रॉबर्ट वेदरहेड ने ‘न्यूजटाक’ को बताया कि उन्होंने अल नूर मस्जिद से भागने वालों को शरण दी।

उन्होंने बताया कि बंदूकधारी 30 से 40 वर्ष की उम्र के आसपास का श्वेत व्यक्ति था, जो वर्दी में था, लेकिन उन्हें नहीं पता कि वह किसकी वर्दी थी।

–आईएएनएस

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker