राष्‍ट्रपति ने 37वें भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेले का उद्घाटन किया

राष्‍ट्रपति ने 37वें भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेले का उद्घाटन किया

New Delhi: President Ram Nath Kovind with Suresh Prabhu, Union Minister of Commerce & Industry inaugurating the 37th India International Trade Fair (IITF)--2017 at Pragati Maidan in New Delhi on Nov. 14, 2017. (Photo: IANS/RB)

 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज नई दिल्‍ली में 37वें भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला-2017 (आईआईटीएफ) का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि भारत अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला-2017 का आयोजन ऐसे समय हो रहा है, जब भारत वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था में एक बेहतर स्‍थान के तौर अपनी पहचान बना रहा है।

उन्‍होंने कहा कि विश्‍व ने भारत में कारोबार के वातावरण में परिवर्तन तथा व्‍यापार करने में सुगमता को स्‍वीकार किया है। वस्‍तु और सेवा कर का लागू होना एक ‘मील का पत्‍थर’ साबित हुआ है। इससे राज्‍यों के बीच की बाधाएं खत्‍म हुई है। इससे साझा बाजार और अधिक व्‍यवस्थित अर्थव्‍यवस्‍था के निर्माण के साथ ही विनिर्माण क्षेत्र में मजबूती आई है। इन प्रयासों के परिणामस्‍वरूप पिछले तीन वर्षों में प्रत्‍यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) में काफी बढ़ोतरी हुई है, जो 2013-14 में 36 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2016-17 में 60 बिलियन डॉलर हो गया।

राष्‍ट्रपति ने भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) की आईआईटीएफ-2017 के आयोजन और प्रगति मैदान को अंतर्राष्‍ट्रीय प्रदर्शनी-सह सम्‍मेलन केन्‍द्र (आईईसीसी) बनाने की पुनर्विकास योजना की प्रशंसा की। राष्‍ट्रपति ने कहा कि आईटीपीओ, आईआईटीएफ का विश्‍व स्‍तरीय आयोजन कर रहा है और आईईसीसी भारत को बढ़ती अर्थव्‍यवस्‍था के तौर पर स्‍थापित करने में मददगार होगा।

वाणिज्‍य और उद्योग मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने अपने संबोधन में प्रगति मैदान के निर्माणाधीन होने के बावजूद भी आईआईटीएफ सहित कई मेलों के सफलतापूर्वक आयोजन के लिए आईटीपीओ की प्रशंसा की। श्री प्रभु ने कहा कि उनका मंत्रालय भारत के व्‍यापारिक समुदाय को रचनात्‍मक माहौल प्रदान करने और उसके सशक्तिकरण के लिए हरसंभव कदम उठा रहा है।

वाणिज्‍य और उद्योग राज्‍य मंत्री श्री सी.आर. चौधरी ने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के दृष्टिकोण से प्रेरित ‘मेक इन इंडिया’ अभियान से भारत वैश्विक विनिर्माण स्‍थल के तौर पर उभर रहा है। श्री चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में आर्थिक सुधारों की श्रृंखला शुरू हुई, जिससे नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा मिल रहा है। एफडीआई में सुधार से व्‍यापार और निवेश का माहौल बेहतर हुआ है।

आईटीपीओ के मुख्‍य प्रबंध निदेशक श्री एल.सी.गोयल ने आईआईटीएफ-2017 के विभिन्‍न आयामों के बारे में जानकारी दी। आईआईटीएफ-2017 का आयो‍जन 14 नवम्‍बर से 27 नवम्‍बर तक हो रहा है। उन्‍होंने बताया कि आईटीपीओ अपनी सभी महत्‍वाकांक्षी परियोजनाओं को लागू करने के लिए तेजी से काम कर रहा है। उन्‍होंने उद्योग जगत से सर्व सुविधायुक्‍त नये कॉम्‍प्‍लेक्‍स का लाभ उठाने के लिए आगे आने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *