Politics

राहुल ने सीबीआई मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन का नेतृत्व किया, गिरफ्तारी दी

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को ‘बहाल करने’ की मांग को लेकर अपनी पार्टी और गठबंधन के नेताओं के साथ शुक्रवार को सड़क पर उतरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘चोर’ कहने के बाद गिरफ्तारी दी। उन्होंने दक्षिण दिल्ली दिल्ली के लोधी रोड स्थित सीबीआई मुख्यालय के बाहर लोगों को अपने संक्षिप्त संबोधन में कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सभी संस्थानों को समाप्त कर रहे हैं, क्योंकि वह राफेल सौदे में भ्रष्टाचार को छुपाना चाहते हैं।”

राफेल सौदे के तार सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने से जोड़ते हुए, कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने इस सौदे के जरिए एक व्यापारी को 30,000 करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया।

उन्होंने कहा, “कांग्रेस ‘चौकीदार’ को यह चोरी नहीं करने देगी। विपक्षी पार्टियां चौकीदार को चोरी करने की इजाजत नहीं देंगी।”

एक ट्रक के सबसे ऊपर चढ़े, राहुल ने कहा, ‘चौकीदार चोर है।’ भीड़ ने उनके गिरफ्तारी देने से पहले एकस्वर में इसे दोहराया।

राहुल के साथ इस विरोध प्रदर्शन के दौरान पार्टी नेता भूपिंदर हुड्डा, अहमद पटेल, अशोक चव्हाण, रणदीप सिंह सुरजेवाला और तृणमुल कांग्रेस के नेता नदीमुल हक, भाकपा के डी. राजा और लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव मौजूद थे।

बाद में, राहुल और अन्य नेताओं को एक पुलिस बस में लोधी कॉलोनी पुलिस थाने ले जाया गया, जिसके बाद सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि राहुल और अन्य नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है।

उन्होंने कहा, “निरंकुश मोदी सरकार द्वारा राहुल गांधी की गिरफ्तारी लाखों कांग्रेस कार्यकर्ताओं को राफेल सौदे को छुपाने के लिए सीबीआई के भंग करने के प्रयासों को उजागर करने से नहीं डिगा पाएगी।”

गहलोत ने कहा कि कांग्रेस आलोक वर्मा को दोबारा बहाल करने की मांग को लेकर देशभर के सीबीआई कार्यालयों के बाहर प्रदर्शन कर रही है।

उन्होंने कहा, “हम चाहते हैं कि आलोक वर्मा को दोबारा बहाल किया जाए। वह प्रधानमंत्री, प्रधान न्यायाधीश और विपक्षी नेता के कॉलेजियम द्वारा ही स्थांतरित किए जा सकते हैं। प्रधानमंत्री को सीबीआई की छवि धूमिल करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।”

बाद में, नेताओं को जाने दिया गया, राहुल ने पुलिस थाने के बाहर पत्रकारों से कहा कि मोदी ने उद्योगपति अनिल अंबानी की जेब में 30,000 करोड़ रुपये डाल दिया है।

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री भाग सकते हैं, लेकिन सच्चाई को छुपा नहीं सकते। सच्चाई बाहर आ जाएगी। प्रधानमंत्री ने इस मामले में डर और घबराहट से काम किया है। प्रधानमंत्री किसानों का कर्जा माफ करने के लिए एक रुपया भी नहीं दे सकते हैं। नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चोकसी, ललित मोदी सभी भाग गए। अनिल अंबानी भी भाग जाएंगे।”

राहुल ने कहा, “सच्चाई यह है कि प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं। चौकीदार चोर है।”

इससे पहले राहुल ने विपक्षी नेताओं के साथ दयाल सिंह कॉलेज से सीबीआई मुख्यालय तक प्रदर्शन की अगुवाई की।

–आईएएनएस

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker