National

लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित (लीड-1)

नई दिल्ली : संसद के निचले सदन लोकसभा की कार्यवाही मंगलवार को पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 12,600 करोड़ रुपये के घोटाले सहित विभिन्न मुद्दों पर हंगामे के बीच दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि सरकार बैंकिंग अनियमितताओं पर चर्चा के लिए तैयार थी लेकिन हंगामा जारी रहा, जिसके बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

सदन की कार्यवाही पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होने के बाद कुछ ही मिनटों में स्थगित हो गई। इसके बाद जब दोपहर 12 बजे सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तब भी हंगामा बरकरार रहा और विपक्षी सांसद लोकसभा अध्यक्ष के आसन के पास इकट्ठा होकर नारेबाजी करने लगे।

अनंत कुमार ने सभी पार्टियों के सदस्यों से अपनी-अपनी सीटों पर लौट जाने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि सरकार पिछले एक साल में बैंकों में हुई अनियमितताओं, अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव पर चर्चा के लिए तैयार है और वित्त मंत्री अरुण जेटली इस चर्चा पर जवाब देंगे।

अनंत कुमार ने कांग्रेस पर चर्चा से भागने का भी आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, “यह बजट सत्र का दूसरा चरण है। हमें वित्तीय कामकाज करना है। हमें ग्रांट के लिए विभिन्न मांगों पर चर्चा करनी है। यदि सदन की कार्यवाही सुचारू ढंग से चलेगी तो हर कोई अपने मुद्दे उठा सकता है।”

उन्होंने कहा, “मुझे विशेष रूप से नहीं पता कि कांग्रेस के मेरे साथी क्यों भड़के हुए हैं। वे बैंकिंग में अनियमितताओं पर चर्चा चाहते हैं, हम इसके लिए तैयार हैं।”

अनंत कुमार ने कहा, “जिन लोगों ने अपराध किया है, उन्हें दंडित किया जाना चाहिए। इतने वर्षो में जो कुछ भी हुआ है, उस पर चर्चा होनी चाहिए। संयुक्त प्रगतिशील गठबंध (यूपीए) सरकार के दौरान जो अपराध और अनियमितताएं हुईं, उन पर भी चर्चा होनी चाहिए।”

उन्होंने कहा कि किसी को बचाने का सवाल ही नहीं उठता।

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पूछा कि पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को देश छोड़कर भागने क्यों दिया गया।

उन्होंने कहा, “जनता के पैसे को लूटा गया और दोषियों को देश से भाग जाने दिया गया।”

संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण छह अप्रैल को समाप्त होगा।

–आईएएनएस

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker