National

विजेता छात्रों का दक्षिण कोरिया का दौरा

कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के 18 विजेता छात्रों ने सियोल जो दक्षिण कोरिया की राजधानी है, का 6 दिनों के लिए नि: शुल्क दौरा किया। इस यात्रा का पूरा खर्च कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत द्वारा प्रायोजित था।

इन विजेताओं ने सियोल के विभिन्न सांस्कृतिक और पर्यटक आकर्षणों का आनंद लिया। विजेता छात्रों  ने दक्षिण कोरिया में भारतीय राजदूत सुश्री श्रीप्रिया रंगनाथन से मुलाकात की। उन्होंने उन्हें भारत और दक्षिण कोरिया के बीच संबंधों की बढ़ती ताकत के बारे में बताया।

भारतीयों के प्रति कोरियाई लोगों की गर्मजोशी का अनुभव करने से विजेता बहुत खुश थे। इनमें तीसरी कोरिया-भारत मैत्री क्विज़ प्रतियोगिता के 23000 से अधिक प्रतिभागियों में से 4 शीर्ष विजेता शामिल थे – शालोम हिल्स इंटरनेशनल स्कूल, गुरुग्राम से ए. मोहम्मद फरहान, वेंकटेश्वर इंटरनेशनल स्कूल,सेक्टर 10, द्वारका के हर्षबीर सिंह अहुजा, बिरला विद्या निकेतन, सेक्टर 4, पुष्प विहार से हंशुल बहल, आर डी राजपाल स्कूल, सेक्टर 9, द्वारका से गायत्री सिंह।

 

उनके साथ अखिल भारतीय 6 वें कोरिया भारत निबंध प्रतियोगिता के 28000 से अधिक प्रतिभागियों में से 3 शीर्ष विजेता थे – डी ए वी पब्लिक स्कूल, सेक्टर 14, फरीदाबाद से आकृति राज, आर्मी पब्लिक स्कूल, अहमदाबाद कैंट से सुखमानी कौर रियर, पूरनचंद्र विद्या निकेतन, कानपुर से यान्शी वैश। इंडियन के-पॉप प्रतियोगिता के 11 शीर्ष विजेताओं ने बाकी समूह बना दिया। उनका नेतृत्व आशीष धनकर और वानी थारेजा ने किया था।

कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत के निदेशक श्री किम कुम-पायंग ने इस समूह को विदा किया था। उन्होंने उन्हें बधाई दी और उन्हें दक्षिण कोरियाई आतिथ्य और सांस्कृतिक आकर्षणों का अनुभव करने के लिए प्रोत्साहित किया।

विजेताओं ने गेओंगबोक पैलेस, के-स्टाइल हब, हान नदी क्रूज़, सियोल ट्रिकी संग्रहालय, लोट्टे वर्ल्ड, गंगनाम एरिया, दोंगदेमुन डिज़ाइन प्लाजा, चेओन्गीचियन स्ट्रीम, इतेवान , म्योंगदोंग, नमसंगोल हैनोक गांव, चेऔंगए प्लाजा और ग्वांग्वामुन प्लाजा जैसे स्थानों का अनुभव किया।

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker