National

17 मई से 19 मई तक तीन दिवसीय ताइवान एक्सपो का होगा आयोजन…

एस.पी. चोपड़ा, नई दिल्ली: भारत और ताइवान के बीच आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को और मजबूत बनाने के उद्देश्य से नई दिल्ली के प्रगति मैदान के हॉल संख्या 11 में 17 मई से 19 मई तक तीन दिवसीय ताइवान एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। इस एक्सपो में ताइवान की नवीनतम उन्नत तकनीकों से देशवासियों को रूबरू कराया जाएगा। दिल्ली में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में इस व्यापार मेले के लोगों का अनावरण किया गया।

इस मौके पर फिक्की इलेक्ट्रॉनिक एंड व्हाइट गुड्स मैन्यूफेक्चरिंग कमेटी के अध्यक्ष श्री सोम मित्तल, फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया आईटी एसोसिएशन (एफएआईआईटीए) के अध्यक्ष श्री चंपक राज गुर्जर, सीएमएआई एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रो. एनके गोयल, टीएआईटीआरए के प्रतिनिधि और अन्य लोग मौजूद थे। गौरतलब है कि ताइवान के अग्रणी व्यापार प्रचार संगठन ताइवान विदेश व्यापार विकास परिषद (टीएआईटीआरए) की ओर से पहली बार भारत में इस तरह के मेले का आयोजन किया जा रहा है।

इंडोनेशिया, वियतनाम, थाईलैंड और मलेशिया के अलावा भारत उन पांच देशों में से एक है, जहां इस साल ताइवान एक्सपो आयोजित किया जा चुका है। आसियान देशों में ताइवान एक्सपो आयोजन की शुरुआत पिछले साल की गई थी, जिसमें बड़ी सफलता मिली और यह वैश्विक प्रदर्शनी बाजार में अपनी साख बनाने में कामयाब रही। ताइवान एक्सपो के इस भारतीय रूपांतरण में ताइवान की आधुनिकतम तकनीक, पर्यावरण मित्र उत्पादों को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक, पर्यटन और शिक्षा जगत के संबंधों को बढ़ावा देने के लिए बेहद जरूरी मंच भी प्रदान किया जाएगा।

टीएआईटीआरए के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री वॉल्टर एमएस येह ने बताया कि ताइवान एक्सपो के आयोजन का मुख्य उद्देश्य एक ऐसा मंच तैयार करना है, जिसमें ताइवान की अत्याधुनिक तकनीक और औद्योगिक अनुभवों के जरिए अलग-अलग औद्योगिक लाभ व कार्यक्षेत्रों के बीच परस्पर सहयोग को बढ़ाया जा सके। यह बहुत सुखद पहलु है कि पिछले कुछ वर्षों में भारत और ताइवान के बीच व्यापार और आर्थिक संबंध बढ़ते गए हैं।

नई दिल्ली में आयोजित इस ताइवान एक्सपो में विषय विशेष आधारित आठ पैवेलियनों (मंडपों) के जरिए ताइवान की आधुनिकतम तकनीकों, पर्यावरण मित्र उत्पादों और उद्योग कौशलों की जानकारी दी जाएगी। इसमें आठ विशेष उद्योग क्षेत्रों का प्रदर्शन किया जाएगा जो हरित उत्पादों, स्मार्ट सिटीज, ईवी अलायंस (इलेक्ट्रिक वाहन संबंधी गठबंधन), स्वास्थ्य देखभाल संबंधी सेवाओं, पर्यटन, खाद्य प्रसंस्करण तंत्र, वस्त्र, ऑटोमोबाइल, खेल, कृषि, सूचना व संचार प्रौद्योगिकी संबंधी उत्पादों,मेंडरिन शिक्षा और व्यापार सेवा सहित उद्योग को विस्तार देने वाली सेवाओं के प्रति समर्पित होंगे।

इन सभी लक्ष्यों तक पहुंचने और स्मार्ट विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए एडवान्टेक ने नेटवर्क से जुड़ी आई-फैक्ट्रियों और आई-मशीनरी को सक्षम बनाया है। इतना ही नहीं, स्मार्ट फैक्ट्रियों के लिए छह आधार तय किए गए हैं। इनमें मशीन स्वचालन, उपकरण निगरानी व अनुकूलन, मशीन नियंत्रण व पूर्वानुमान युक्त रखरखाव, विनिर्माण निष्पादन प्रणाली (एमईएस) संबंद्धता और उत्पादन आंकलन, कारखाना ऊर्जा प्रबंधन प्रणाली और कारखाना परिवेश निगरानी शामिल हैं, जो इंडस्ट्री 4.0 के लिए एकीकृत स्वचालन और क्लाउड नवाचार के साथ विकसित किए गए हैं।

विदेशों के साथ ताइवान के व्यापार को बढ़ावा देने के लिए टीएआईटीआरए यानी ताइवान विदेश व्यापार विकास परिषद का गठन वर्ष 1970 में किया गया था। यह ताइवान का अग्रणी गैर-लाभकारी व्यापार प्रचार संगठन है। सरकार और औद्योगिक संस्थानों की ओर से प्रायोजित टीएआईटीआरए उद्यमियों को अपने वैश्विक उद्देश्यों की प्राप्ति में मदद करता है।

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker