HealthNational

NDMC क्षेत्र में खसरे और रूबैला टीकाकरण के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

नई दिल्ली: नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् द्वारा देशव्यापी खसरा उन्मूलन और रूबैला नियन्त्रण के लिए होने वाले टीकाकरण अभियान के प्रति गैर-पालिका परिषद् विद्यालयों के प्रधानाचार्योें और नोडल अधिकारियों को जागरूक करने के लिए एक कार्यक्रम आज प्रातः एनडीएमसी कन्वेशन सेंटर में आयोजित किया गया । इस कार्यक्रम में 80 से अधिक प्रधानाचार्याें और नोडल अधिकारियों ने भाग लिया ।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् की सचिव श्रीमती रश्मि सिंह ने कहा कि देश को पोलियो मुक्त बनाने के लिए प्लस पोलियो अभियान की सफलता सर्वविदित है और अब यह समय की मांग है कि इसी अनुसरण में खसरा उन्मूलन और रूबैला नियंत्रण के लिए भी देशव्यापी अभियान चलाया जाए ।

श्रीमती रश्मि सिंह ने कहा कि नई दिल्ली क्षेत्र में 16 जनवरी से 31 जनवरी-2019 तक इस अभियान के अन्तर्गत खसरा उन्मूलन और रूबैला नियंत्रण के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा । उन्होंने यह भी बताया कि इस उद्देश्य के लिए नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् विद्यालयों के प्रमुखों के लिए एक जागरूकता कार्यक्रम नवम्बर, 2018 में आयोजित किया जा चुका है और यह कार्यक्रम उसी श्रृंखला में गैर-पालिका परिषद् विद्यालयों के प्रमुखों के लिए आज आयोजित किया गया है ।

श्रीमती रश्मि सिंह ने कहा कि 9 महीने से लेकर 15 साल तक के बच्चों के लिए यह टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जाएगा, चाहे उन्हें पहले ऐसा टीकाकरण किया जा चुका हो । इसके लिए सभी नोडल अधिकारियों की सहायता ली जाएगी और विद्यालयों में प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए सत्र चलाए जाएगें । इस कार्यक्रम में स्वास्थ सेवकों द्वारा टीकाकरण सत्र राष्ट्रीय अभियान के दौरान चलाए जाएगें।

इस अवसर पर विश्व स्वास्थ्य संगठन से आए पर्यवेक्षण चिकित्सा अधिकारी डाॅ.केसर ने खसरे और रूबैला बीमारियों से संबंधित लक्षणों और दुष्प्रभावों की जानकारी देते हुए बताया कि खसरा एक जानलेवा बीमारी है जो एक वायरस द्वारा फैलती है । खसरे के कारण अपंगता भी आ जाती है और अंततः बच्चों की मृत्यु तक हो सकती है ।

नई दिल्ली के जिला प्रतिरोधक चिकित्सा अधिकारी डाॅ हर्ष ने कहा कि रूबैला एक संक्रमणकारक बिमारी है, जो एक वायरस के कारण फैलती है इसके लक्षण खसरे से मिलते-जुलते होते हैं और यह बिमारी लड़के और लड़की दोनो का हो सकती है । उन्होंने यह भी बताया कि यदि कोई गर्भवती महिला इस संक्रमण से ग्रसित हो जाए तो गर्भ मंे पल रहे बच्चे और नवजात शिशु को अत्याधिक हानि हो सकती है ।

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् में इस अभियान के नोडल अधिकारी डाॅं आर.एन.सिंह ने इस अवसर पर जानकारी देते हुए बताया कि अगले माह नई दिल्ली क्षेत्र में 9 महीने से लेकर 15 साल के बच्चों के लिए यह टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जाएगा, जिसमें खसरे के उन्मूलन और रूबैला की रोकथाम के लिए टीकें लगाए जाएगें । उन्होंने यह भी बताया कि यह टीकेें अत्यंत सुरक्षित है और इनके कोई दुषप्रभाव भी नही होते है । उन्होंने इस अवसर पर नई दिल्ली क्षेत्र के अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि वें अपने बच्चों को इस अभियान के अन्तर्गत अवश्य टीकाकरण कराए ।

Show More
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker